सावधानी हटी - दुर्घटना घटी. (Part 2)


कुछ समय पहले एक परिचित अपने परिजनों के साथ नजदीकी शहर से अपना आवश्यक कार्य सम्पन्न कर वापस जब अपने शहर की ओर आ रहे थे तब रात के शुरुआती पहर में शहर से लगभग 12-15 किलोमीटर की दूरी पर उनके कार की विंडस्क्रीन पर कहीं से एक अंडा आकर फूटा और देखते ही देखते कांच का उतना हिस्सा अंडे के तरल पदार्थ से खराब हो गया, उन्होंने तत्काल सफाई हेतु पानी चलाते हुए वाईपर चला दिये जिससे पूरा कांच दूधिया होकर अंधे कांच में परिवर्तित हो गया । मजबूरी में कांच साफ करने हेतु जैसे ही उन्होंने अपनी कार रोकी, पीछे से 3 मोटरसाईकिलों पर 7-8 लोग आये और कार के यात्रियों से उनके मोबाईल फोन छीनते हुए उन्हें मार-पीटकर उनके पर्स, घडियां व महिलाओं के जेवर छीनकर भाग गये ।


पुलिस में रिपोर्ट लिखवाने गये तो उन्हें पता चला कि इस प्रकार की घटनाएँ पहले भी ये गेंग कर चुका है और अपनी सुरक्षित लूट को अंजाम देने के लिये ये ऐसा स्थान व समय चुनते हैं जहाँ पीडित पक्ष तत्काल न आगे जा पावे और न ही पलटकर पीछे और ये लुटेरे सुरक्षित रुप से लूटपाट कर तेजी से वहाँ से गायब हो जावें ।


हममें से कईयों के साथ आगे भी इस प्रकार की योजनाबद्ध लूट हो सकती है, इसलिये कृपया ध्यान रखें कि यदि कभी ऐसे किसी निर्जन स्थान पर आपकी चलती हुई कार की विंडस्क्रीन पर अंडा आकर फूटे तो जैसे हैं वैसी ही स्थिति में थोडी असुविधा सहित अपनी कार को पहले नजदीकी सुरक्षित स्थान तक लेकर जावें व उसके बाद ही गाडी रोककर अपना कांच साफ करें । चलती कार में न तो अंडे के उस तरल पदार्थ को पानी अथवा वाईपर से साफ करने की कोशिश करें और न ही अपनी कार को रुकने दें । क्योंकि जैसे ही आप उसे साफ करने की कोशिश करेंगे वैसे ही पूरा कांच दूधिया होकर आपके लिये अंधे कांच में परिवर्तित हो जाएगा और आप फिर चाहकर भी आगे ड्राईविंग नहीं कर पाएँगे व लुटेरों की साजिश का शिकार हो जावेंगे ।


दूसरा तरीका जो बीच शहर में ये लुटेरे अपना रहे हैं वो है किसी भी एकलौते कार चालक के पास आकर उसे ओवरटेक कर उससे कहते हैं कि पीछे तुम मेरे साथी के पैर पर गाडी चढाकर उसे जख्मी करके आ रहे हो, इसी शिकायत के साथ गाडी के दूसरी ओर से दूसरा व्यक्ति भी उसके समर्थन में यही शिकायत लेकर आता है और उस पर दोनों दिशाओं से वापस चलकर उसका इलाज करवाने का दबाव बनाकर सुविधाजनक दिशा से उसका बैग, मोबाईल व अन्य कीमती सामान लेकर भीड में गायब हो जाते हैं, यदि कुछ सामान न दिखे तो दुर्घटना का डर दिखाकर हर्जाने के पैसे मांगने के लिये कार चालक पर दबाव बनाकर उसे लूटते हैं । आपके साथ यदि ऐसी स्थिति कभी बनती दिखे तो पहले अपना मोबाईल, बैग व पास रखा कीमती सामान सुरक्षित करें और किसी पुलिसकर्मी या थाने की मौजूदगी दिखने तक गाडी चलाते हुए अथवा राहगीरों की मदद से अपना बचाव करने का प्रयास करें ।


सावधानी में ही हमारे शरीर व सम्पदा की सुरक्षा है इसे ध्यान रखें...





9 व्यूज

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

© 2019 by matlabkibaat.com